img
img
img

आढ़ती एसोसिएशन की जिला इकाई द्वारा उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा

admin  1 week, 5 days ago Top Stories

PANIPAT AAJ KAL , 13 सितम्बर (जसप्रीत) :     ई टैंडिंग व डायरेक्ट पेमैंट के लागू किए जाने वाले निर्णय पर मुख्यमंत्री द्वारा फिर से विचार करने की मांग को लेकर हरियाणा स्टेट अनाज मण्ड़ी आढ़ती एसोसिएशन की जिला इकाई द्वारा उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा गया। वहीं जिला की सभी मण्डियों में सांकेमिक हड़ताल रखी गई व ज्ञापन सौंपे गए। यहां जिला स्तर पर आढ़तियों का नेतृत्व एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष धर्मबीर मलिक ने किया। उपायुक्त ने उनको आश्वासन दिया है कि उनका ज्ञापन शीघ्र ही मुख्यमंत्री जी तक पहुंचा दिया जाएगा। आढ़तियों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। यहां लघु सचिवालय उपायुक्त को ज्ञापन देने पहुंचे हरियाणा स्टेट अनाज मण्ड़ी आढ़ती एसोसिएशन की जिला इकाई जिला अध्यक्ष धर्मबीर मलिक ने बताया कि 22 सितम्बर 2016 को आढ़तियों का एक प्रतिनिधि मंडल प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिला था। प्रतिनिधि मंडल ने ई ट्रेडिंग व डायेक्ट पेमेंट को लाूग करने पर विस्तार से बात हुई थी। श्री मलिक ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री जी को बताया था कि मण्डियों में 20 प्रतिशत अनाज ही मानकों के अनुरूप आता है। खरीददार ढेरी पर खड़े होकर उसकी गुणवता की जांच कर ही अनाज खरीदता है। श्री मलिक ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने उस समय हमें आश्वासन दिया था कि ई ट्रेडिंग व डायरेक्ट पेंमेंट हमारी मण्डियों में सरकार द्वारा लागू नहीं किया जाएगा। हैरानी की बात है कि मुख्यमंत्री जी के आश्वासन के बाद  भी हरियाणा राज्य मार्किटिंग बोर्ड द्वारा इसे लागू करने के आदेश जारी किए जा चुके हैं। जिससे प्रदेश भर के आढ़तियों में भारी रोष है। आज एक बैठक कर निर्णय लिया गया है कि उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा जाए। श्री मलिक ने बताया कि  उपायुक्त डा.चन्द्रशेखर खरे को ज्ञापन सौंप दिया गया है। उपायुक्त ने शीघ्र ज्ञापन को मुख्यमंत्री जी के पास भेजने का आश्वासन दिया है। ज्ञापन में बताया गया है कि किसान फसल तैयार करने के लिए साल भर कई-कई बार आढ़तियों से पैसे लेते है। फसल के समय ही आढ़ती अपने पैसे काटकर किसान की पेमेंट करता है ई ट्रेडिंग व डायरेक्ट पेमेंट के लागू होने से किसान व आढ़ती दोनों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। वहीं प्रदेश के 35 हजार आढ़ती व 70 हजार मुनीम सडक़ों पर आकर आंदोलन करनेको मजबूर होंगे। ज्ञापन में यह सपष्ट किया गया है कि 19 सितम्बर तक हमारी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो 23 सितम्बर को करनाल की अनाज मण्डी में महारैली करेंगे तथा पूरे प्रदेश की मण्डियों में हड़ताल की जाएगी। इस अवसर पर सुरेश आर्य, लालचंद गर्ग, बिजेन्द्र मान, विजय छाबड़ा, विनय गुप्ता, प्रेम भंड़ारी, मोहकम छौक्कर व कुलदीप देशवाल आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे। 


img
img
img